दलित बुजुर्ग ने बांधी पुलिसवाले को पगड़ी तो कर दी बेरहम पिटाई

फरीदाबाद। अगवानपुर गांव के 68 साल के बुजुर्ग दलित देवी सिंह बीते दो दिनों से अपना इलाज करवाने के लिए पुलिस से गुहार लगा रहे हैं। आरोप है कि देवी सिंह को रविवार को भूमाफिया गिरोह की महिलाओं और उनके पतियों ने मार-मार कर अधमरा कर दिया था। देवीराम का कसूर बस इतना था कि वे ग्रीन एस्टेट एंड एचआरई प्लॉट होल्डर एसोसिएशन के पौधरोपण समारोह में सेवानिवृत्त सब इंस्पेक्टर रघुवीर सिंह को पगड़ी बांधने गए थे।

old-man-photo

समाचार पत्र “जनसत्ता” की प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार को समारोह पर भूमाफिया गैंग की महिलाओं ने पुलिस की मौजूदगी में पंडाल पर हमला कर दिया था। इसमें पांच महिलाओं समेत करीब एक दर्जन से ज्यादा उम्रदराज सदस्य घायल हो गए थे। इन्हीं में देवी सिंह भी शामिल थे। इन महिलाओं ने जब पंडाल में एसोसिएशन के सदस्यों के साथ देवी सिंह को देखा तो वे भड़क गर्इं और उन्होंने देवी सिंह पर हमला कर दिया।

हालांकि देवी सिंह रविवार को सराय ख्वाजा थाने में गए थे। लेकिन दर्द के कारण उनके परिजन उन्हें सर्वोदय अस्पताल में ले गए। जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद पाया कि उन्हें अंदरूनी चोटें हैं और उनके हाथ में हड्डी पर गहरी चोट है। इसके बाद डॉक्टरों ने हाथ पर पलास्टर कर दिया। देवी सिंह की जब पुलिस चौकी और थाने में सुनवाई नहीं हुई तो मंगलवार को परिजनों ने पुलिस कमिश्नर डॉक्टर हनीफ कुरैशी के दफ्तर में लिखित शिकायत कर दी। अपनी शिकायत में उन्होंने कहा है कि वे दलित हैं और 68 साल की उम्र में मेहनत-मजदूरी कर गुजर-बसर कर रहे हैं।

देवी सिंह के मुताबिक, रविवार को गांव अगवानपुर में ग्रीन स्टेट एंड एचआरई प्लॉट होल्डर एसोसिएशन का सम्मान समारोह और पौधरोपण कार्यक्रम था। इसमें सेवानिवृत्त एसआइ रघुवीर सिंह को मैं पगड़ी पहना कर सम्मान करने आया था और पौधरोपण करना था। समारोह के दौरान अनेक महिलाओं ने समारोह के टेंट को घेर लिया। इसके बाद नीरज, रेखा, नवीता, किशनपाल, धर्मेंद्र, तरुण और रेखा के बेटे ने पथराव करना शुरू कर दिया। आरोप है कि इन पांच-छह लोगों ने उसे मार-मारकर उसका हाथ तोड़ दिया और उसे जाति सूचक गालियां दीं और जातिसूचक शब्द से पुकार कर कहा, ‘तू यहां क्या करने आया है। भाग जा यहां से नहीं तो जान से मार देंगे’।


रिपोर्ट के मुताबिक, इस घटना की वजह से वह सोमवार पूरा दिन दर्द और सदमे में रहा। पुलिस ने उसका मेडिकल भी नहीं करवाया। अगले दिन फोन करने पर चौकी इंचार्ज ने कहा कि पुलिस कांवड़ में व्यस्त है इसलिए वे मंगलवार को मेडिकल करवाएंगे। मंगलवार को भी उसका मेडिकल नहीं करवाया गया है। देवी सिंह की मांग है कि उपरोक्त दोषियों के खिलाफ कठोर कानूनी कायर्वाही की जाए और एससी एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर उन्हें इंसाफ दिलाया जाए।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s