सोशल मीडिया रिएक्शन: कश्मीर जल रहा था..नीरो ड्रम बजा रहा था!

नई दिल्ली। भारत प्रशासित जम्मू कश्मीर की कश्मीर घाटी में हिंसक विरोध-प्रदर्शन का दौर चल रहा है। अबतक 23 लोगों के मरने और दो सौ से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है। घायलों में सुरक्षा बलों के करीब सौ जवान भी शामिल हैं। वहीं देश के प्रधानमंत्री आज कल फिर विदेश दौरे पर हैं। पीएम मोदी तंजानिया पहुंचे जहां उनका रंगारंग कार्यक्रम के साथ स्वागत किया गया। इस दौरान पीएम मोदी ने तंजानिया के राष्ट्रपति के साथ ड्रम बजाते दिख रहे हैं। जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स पीएम मोदी के ड्रम बजाते हुए वीडियो और फोटो शेयर कर रहे हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर लोगों ने क्या रिएक्शन दिया। यहां पढ़िए।

blog-2

गोपाल राठी लिखते हैं- “कश्मीर घाटी सुलग रही है…..एक आतंकवादी की मौत के बाद भड़की हिंसा में 17 लोग मारे जा चुके हैं, हिन्दुओं की एतिहासिक अमरनाथ यात्रा रद्द हो चुकी है, लेकिन देश का परिधानमन्त्री विदेश में ड्रम बजाने में मशगूल है, देश का रक्षामंत्री गोआ में फ्री LED बल्ब बांटने में व्यस्त है और देश के गृहमंत्री का कोई अता-पता ही नहीं है किसी के पास……….!!!”

शाहबाज अहमद ने लिखा- “‎रोम जल रहा था, नीरो ‎बंसी बजा रहा था…

‪‎कश्मीर जल रहा है, हीरो ‎ताशा बजा रहा है…”

योगेश गर्ग ने लिखा- “जब घाटी जल रही थी, नीरो अफ्रीका में ट्रेन दौड़ा रहा था।”

शंभू कुमार सिंह लिखते हैं- “रोम जल रहा था नीरो बंसी बजा रहा था। कश्मीर में आग लगी है पीएम सफारी कर रहे हैं।”

मोहन श्रोत्रिया ने लिखा- “हर युग के ‪‎नीरो का संबंध किसी न किसी वाद्य यंत्र से ज़रूर पाया जाएगा!

वाद्य यंत्र ही तो कड़वी सच्चाई की अनदेखी करने में उसकी मदद करता है।

कभी ‪#‎बांसुरी, कभी ‪‎ढोलनगाड़े, और कभी ‪‎झांझमंजीरे!

हां, कभी मंदिरों के ‎घंटे भी!”

नितिन ठाकुर ने कुछ इस तरह से लिखा- “नफरती चिंटू- कश्मीर में एक आतंकी के जनाजे में इतनी भीड़!!!

जिहादी जाॅन- ठाकरे के जनाजे में भी तो थी.

नफरती चिंटू- वो महाराष्ट्र का नेता था.

जिहादी जाॅन- ये कश्मीर का बेटा था!!

बस्स.. यही वो बात है जो असल है और खतरनाक भी. मैं बुरहान का समर्थन नहीं कर रहा. उसका क्या किसी भी बंदूक उठानेवाले का नहीं करूंगा लेकिन जहां पहले कश्मीर में भारत से जंग लड़ने के लिए लोग बाहर से आते थे और पहचान छिपाकर ऑपरेशन करते थे.. वहीं अब बुरहान जैसे लड़के पूरी पहचान स्थापित करके कत्ल कर रहे हैं। इनका कश्मीरी होना इनके लिए घाटी में सपोर्ट सिस्टम बनता है। कश्मीरी इन्हें पराया नहीं मानते। आप जिसे मिलिटेंसी कह रहे हैं वो उसे आज़ादी की जंग मान रहे हैं। घर बैठकर आप जंग की हुंकार भरिए और उधर कश्मीर पहले से भी ज्यादा सुलग रहा है.. बाकी नीरो तो है ही जो अफ्रीका घूमने गया है।”

समीर गुप्ता ने लिखा- “कश्मीर जल रहा था नीरो अफ्रीका मैं नगाड़े बजा रहा था।”

विरेंद्र यादव लिखते हैं- “आज का नीरो बंसी नही ड्रम बजाता है !”

शशि भूषण सिंह ने लिखा- “हर युग के अपने रोम और नीरो होते हैं।”

आशुतोष यादव ने लिखा- “सावधान ! ! !

भारत का नीरो ढोलक बजा रहा है।”

अल्का सुमाल ने लिखा- “यहाँ कश्मीर सुलग रहा है, वहां तंजानिया में अपना नीरो तबला बजा रहा है।”

आशीष मौर्या ने लिखा- “यहां कश्मीर जल रहा है वहां नीरो ट्रेन में बैठ कर तीर्थ यात्रा कर रहा है ।

यहाँ कश्मीर सुलग रहा है, वहां तंजानिया में अपना नीरो तबला बजा रहा है।”

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s